क्या हुआ जब एक विद्यार्थी ने डॉ जितेन्द्र सिंह से माँगा 4 जी इन्टरनेट?

#JitendraSinghHoshMeinAao क्यूँ हुआ ट्विटर पर ट्रेंड

0
410

5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर में धारा 370 और आर्टिकल 35 ए तोड़ने के वक़्त बंद किया गया मोबाईल इन्टरनेट तब तक बहाल नहीं हो पाया था जब तक कि सुप्रीम कौर्ट ने जम्मू कश्मीर की सरकार से इस पर जवाब नहीं माँगा. जम्मू कश्मीर के युवाओं ने बहुत ही धैर्य के साथ बारम्बार केंद्र सरकार से अपने चुने हुए प्रतिनिधियों के द्वारा अपनी बात पहुछाने की कोशिश भी की लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ इसके उपरान्त युवाओं ने कई दफा माइक्रो ब्लॉग्गिंग साईट ट्विटर पर भी मोबाइल इन्टरनेट शुरू करने की मांग को ले कर ट्रेंड चलाये थे लेकिन सरकार ने बड़ी चतुराई से सुप्रीम कौर्ट के द्वारा मोबाइल इन्टरनेट पर पूछताछ करने के एवज में मोबाइल इन्टरनेट तो शुरू कर दिया लेकिन मोबाइल कंपनियों को इन्टरनेट की स्पीड 2 जी पर रखने के निर्देश दे दिए. जम्मू कश्मीर के युवा हालांकि मोबाइल कंपनियों को पासी तो 4 जी इन्टरनेट के दे रहे हैं लेकिन उन्हें सुविधा अभी भी 2 जी इन्टरनेट की ही मिल रही है.

विश्व भर में कोरोना महामारी फैलने के उपरान्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पहले 21 दिनों का लाकडाउन घोषित किया गया बाद में इसे बढ़ा कर 3 मई तक कर दिया गया जिसके पुन: बढाए जाने की आशंका भी है इतने लम्बे लाकडाउन के मध्य #StayAtHome #WorkFromHome #OnlineClasses इत्यादि खूब ट्रेंड हुआ है और कई कंपनियों के अधिकारी व् वर्कर घरों से ही काम करने को विवश हैं. स्कूलों की ऑनलाइन क्लासेज भी 2 जी इन्टरनेट के चलते ढंग से नहीं चल प् रही है. ऐसे में जम्मू कश्मीर के युवा कई बार अपने चुने हुए प्रतिनिधियों और केंद्र सरकार से केंद्र शासित प्रदेश में 4 जी इन्टरनेट शुरू करने की मांग कर चुके हैं. जिसका अभी तक कोई निर्वारण नहीं हुआ है.

Ajeet Kotwal

इस सबके बीच आज उस वक़्त सोशल नेटवर्किंग साईट ट्विटर पर एकाएक #JitendraSinghHoshMeinAao हैशटैग ट्रेंड करने लगा. जे.के.स्पीक्स ने जब इसकी पड़ताल की तो पता चला कि अजीत कोतवाल नामक एक विद्यार्थी ने पी.एम्.ओ. में राज्यमंत्री और कठुआ-उधमपुर-डोडा से भाजपा सांसद डॉ जितेन्द्र सिंह के फेसबुक पेज पर 4 जी इन्टरनेट मांगते हुए एक कमेंट किया था

Dr Jitendra Singhजिसके जवाब में डॉ जितेन्द्र सिंह ने गुस्सा दिखाते हुए इस विद्यार्थी के ऊपर तंज कास दिया था. डॉ जितेन्द्र सिंह का यह व्यवहार लोगों को रास नहीं आया और देखते ही देखते #JitendraSinghHoshMeinAao हैशटैग के साथ लोग कई ट्वीटस करने लगे.

20200419_210430

एक पैरोडी अकाउंट ने तो यह पूछते हुए एक ट्विटर पोल शुरू कर दिया कि अगर नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद के दावेदार नहीं होते तो क्या वह डॉ जितेन्द्र सिंह को वोट देते? जिसमें अधिकतर लोग डॉ जितेन्द्र सिंह के विरोध में वोट करते नजर आये.

नीचे आप विभिन्न लोगों द्वारा पी.एम्.ओ. में राज्यमंत्री डॉ जितेन्द्र सिंह द्वारा एक विद्यार्थी अजीत कोतवाल के साथ इस अशोभनीय व्यवहार पर जम्मू कश्मीर के युवाओं की प्रतिक्रिया देख सकते हैं.

20200419_210318 20200419_210346

20200419_210358 20200419_210418

20200419_21044220200419_210554

LEAVE A REPLY