जम्मू एक बार फिर आतंक के निशाने पर??

क्या बिलावर आतंक का गढ़ बन रहा है?

0
89

सो, दफा 370 जम्मू कश्मीर से हट चुकी है। देश आर्टिकल 35 ए, जोकि जम्मू कश्मीर को विशेषाधिकार देता था, को भी खतम कर दिया गया है। कश्मीर की सभी राजनीतिक पार्टियों के नेता भी अपने अपने घरों में अथवा मेह्फूज ठिकानों में नज़र बन्द हैं। कश्मीर में नफरत की आग फैलाने वाले अलगाववादी पहले ही देश की विभिन्न जेलों में बन्द किये जा चुके हैं। जहां एक तरफ आम जम्मू कश्मीर के नागरिक दफा 370 के जाने से खुश हैं। वहीं आतंकी और उनके 20191002_211306समर्थक अपनी रातों की नीन्द गंवा चुके हैं। सुरक्षाबल उनके हर नापाक मंसूबे को नाकाम कर रहे हैं। एल ओ सी पार करते ही भारतीय सेना जन्नत का टिकट पकड़ा रही है। इस सबसे बौखलाए हुये आतंकी और उसके आका पकिस्तान किसी भी तरह से जम्मू कश्मीर के शान्तिपूर्ण माहौल को बिगाड़ने की साजिशें रच रहे हैं। जम्मू सम्भाग और लद्दाख सम्भाग में जहां लोग बिना किसी खौफ के अपना जीवन व्यतीत कर पा रहे हैं। वहीं कश्मीर में आतंक समर्थकों द्वारा कई जगहों पर दुकानदारों और व्यवसायियों को अपनी दुकानें और व्यवसायिक प्रतिष्ठान बन्द रखने के लिये डरा धमका रहे हैं। जाहिर है आतंक की आग फैला कर अपने पाक समर्थक एजेण्डे को आगे बढ़ाने वाले आतंकी और उनके समर्थक यह हर्गिज नहीं चाहते कि कश्मीर के हालात सामान्य दिखें।

कश्मीर में सुरक्षा बलों के सामने उनकी एक न चल पाना और किसी भी तरह से हालात बिगाड़ने का जुनून अब उनका ध्यान शान्तिप्रिय जम्मू सम्भाग की तरफ केंद्रित हो गया है। सर्दियों के चलते दरबार मूव और त्योहारों का सीजन होने की वजह से भी आतंकी जम्मू सम्भाग में किसी साजिश को अंजाम देना चाहते हैं। लेकिन सतर्क जम्मू कश्मीर पुलिस और सुरक्षा बल उनके नापाक मंसूबों को ढेर किये जा रहे हैं।20191002_211337

पिछ्ले 20 दिनों में जम्मू सम्भाग में आतंकियों की कई साजिशों को नाकाम कर के सुरक्षाबलों ने कई बड़े सम्भावित आतंकी हमलों को फुस्स कर दिया है।उल्लेखनीय है कि 12 सितम्बर को जम्मू कश्मीर के प्रवेश द्वार लखनपुर में सतर्क जम्मू कश्मीर पुलिस की टीम ने आतंक का एक ट्रक पकड़ा जिसमें 3 आतंकी 6 ए के 47 और ए के 56 राइफ्लें ले कर जम्मू कश्मीर में घुस रहे थे।

इसके बाद सितम्बर को कठुआ के ही बिलावर के एक घर में सुरक्षा बलों को 40 किलोग्राम आर डी एक्स बरामद करने में सफलता मिली।20191002_211327

इसके उपरांत बटोत में एक वाहन चॉलक द्वारा सुरक्षा बलों को तीन संदिग्धों के बारे में सूचना दी गई। सुरक्षा बलों द्वारा सर्च ऑपरेशन चला कर इन तीनों आतकियों को घेर लिया गया जिसके बाद यह तीनों आतंकी एक घर में घुस गये और वहां मौजूद लोगों को बन्धक बना लिया। सुरक्षा बलों ने आखिरकार इन बन्धकों को सुरक्षित छुड़ा लिया और तीनों आतंकियों को ढेर कर दिया।

अक्तूबर के प्रथम दिन ही सुरक्षा बलों ने जम्मू को दहलाने की साजिश एक बार फिर से उस वक़्त नाकाम कर दी, जब बिलावर से जम्मू आ रही एक बस में सुरक्षा बलों ने 15 किलोग्राम आर डी एक्स बरामद कर लिया। जाहिर है आतंकी जब कश्मीर सम्भाग में कुछ नहीं कर पा रहे हैं तो जम्मू में आतंक की साजिशें रच रहे हैं।

क्या बिलावर आतंक का गढ़ बन रहा है?20191002_211317

पिछ्ले 10 दिनों में बिलावर का नाम दो बार सुर्खियों में आया है। एक बार जब वहां एक घर से 40 किलोग्राम आर डी एक्स बरामद हुआ और दूसरा अब जब बिलावर से जम्मू आ रही बस में से 15 किलोग्राम आर डी एक्स बरामद किया गया है। तो क्या बिलावर आतंक फैलाने की साजिशों का गढ़ बन चुका है?

LEAVE A REPLY