नई दिल्ली 11 मई – विदेश मंत्री सुषमा स्वराज एक बार फिर से सोशल मीडिया के जरिए मदद देकर चर्चा में हैं. इस बार उन्होंने फिलीपींस की राजधानी मनीला में एक कश्मीरी छात्र की मदद तो की, लेकिन पहले उसे जो समझाइश दी, उसके बाद से सोशल मीडिया पर इसकी लगातार चर्चा हो रही है. दरअसल विदेश मंत्री ने पहले मदद मांगने वाले छात्र को मदद देने से इनकार कर दिया. उन्होंने उससे कहा, पहले अपनी प्रोफाइल ठीक करो. जब उसने अपनी प्रोफाइल ठीक कर ली, तब सुषमा स्वराज ने उसकी मदद के लिए फिलीपींस में इंडियन एंबेसी से कहा.

दरअसल गुरुवार को एक छात्र ने ट्विटर पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद मांगी. उसने लिखा ‘मेम, मैं एक छात्र हूं. मुझे आपकी मदद की जरूरत है. मेरा पासपोर्ट डेमेज हो गया है. मैं अपने घर भारत वापस लौटना चाहता हूं. मेरी तबीयत भी अच्छी नहीं है.’ इसके बाद सुषमा स्वराज ने भी उसका जवाब ट्विटर पर ही दिया.

 sushma3
उन्होंने लिखा, अगर आप जम्मू कश्मीर राज्य से हैं तो आपको जरूर मदद मिलेगी. लेकिन आपकी प्रोफाइल कहती है कि आप इंडियन ऑक्यूपाइड कश्मीर से हैं. भारत में ऐसी कोई जगह नहीं है.
Sushma

इसके बाद उस छात्र ने अपनी प्रोफाइल सही की. उसने लिखा, ‘मैं, जम्मू-कश्मीर से हूं. यहां फिलीपींस में मेडिसिन कोर्स कर रहा हूं. इसके जवाब में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने लिखा, मुझे खुशी है कि आपने अपनी प्रोफाइल सही कर ली. इसके बाद सुषमा स्वराज ने मनीला में इंडियन एंबेसी को टेग करते हुए उस शख्स की मदद के लिए कहा.

हालांकि शेख अतीक नाम के इस शख्स ने थोड़ी देर बाद अपने अकाउंट को डिलीट भी कर दिया. आपको बता दें कि इससे पहले भी कई बार विदेश मंत्री सुषमा स्वराज कई लोगों की मदद इसी तरह से कर चुकी हैं.

LEAVE A REPLY